पुस्तक समीक्षा: 177 मानसिक दृढ़ता के रहस्य

177 mental toughness secrets of the world class

शीर्षक: 177 मानसिक दृढ़ता के रहस्य

लेखक: स्टीव सिबोल्ड

प्रकाशक: एम्बेसी बुक्स

रेटिंग: 4/5

यह एक अद्भुत पुस्तक उन पाठकों के लिए है जो अपनी मानसिक मांसपरिस्थितयों को स्टील की बनाना चाहते हैं, इतना सुदृण बनाना चाहते हैं कि उस पर भय, निराशा, शंका, अविश्वास और असफलता का कोई दुष्प्रभाव न पड़े। यह पुस्तक आपके मतिस्क में ऐसे रसायन पैदा कर देती है जो आपको चैम्पियन बनने के लिए अतिआवश्यक और अनिवार्य तत्त्व साबित होते हैं। यह पुस्तक अच्छे से महान, औसत से चैम्पियन और मध्यम से विष्वस्तरीय बना सकती है, बसर्ते आप इसमे दी गयी 177 रहस्य की पर्तो का इस्तेमाल कर सकें। पुस्तक हमारी सबसे अच्छी मित्र और सहायक हो सकती हैं यदि हम उन्हें ऐसा करने की अनुमति दें। और अनुमति देने का चुनाव हर पाठक के पास होता है।

इस पुस्तक में मानसिक दृढ़ता के ऐसे 177 फॉर्मूले दिए गए हैं जो हर उस पंच की तरह है जिससे शरीर मजबूत करने के लिए बॉक्सर को ज़रूरत पड़ती है। ये 177 पंच चैम्पियन बनने के लिए नितांत, आवश्यक एवं अपरिहार्य हैं। हर रहस्य हेतु विश्वस्तरीय ज्ञान के स्रोत के रूप में एक-एक पुस्तक का नाम दिया गया है। अगर संदर्भ के रूप में इन 177 पुस्तकों का अध्ययन कर लिया जाए तो विश्वस्तरीय बनने से कोई नही रोक सकता।

यह पुस्तक 177 खंडों में विभाजित है , प्रत्येक खंड अपने आप मे गागर में सागर हैं। प्रत्येक खंड में सिद्धांत (रहस्य) की विवेचना दी गई है, फिर हर सिद्धांत में आज के लिए एक्शन स्टेप दिया गया है और फिर हर सिद्धांत के लिए विश्वस्तरीय श्रोत दिए गए हैं। इस तरह से हर सिद्धांत को आजमाने एवं उससे वास्तविक लाभ प्राप्त करने के लिएयह पुस्तक एक व्यवहारिक मार्गदर्शिका की तरह कार्य करती है। इस पुस्तक को पढ़कर ऐसा लगेगा कि लेखक स्वयं कोच बनकर जीवन के 177 गुढ़ सिद्धांतों को अपनो आमने सामने रूबरू हो कर सिख रहा है। यदि आप तल्लीनता से पढ़ेंगे तो आपको लगेगा जहां आप भटक रहे हैं वहां लेखक कोच के रूप में आपको गाइड कर रहा है|

लेखक एक भूतपूर्व पेशेवर टेनिस खिलाड़ी और नेशनल कोच रहे हैं। उन्होंने विष्वस्तरीय चैम्पियनो के अध्ययन में 26 वर्ष लगाए हैं।निश्चित रूप से इस पुस्तक में चैम्पियनों के रहस्य जानने में लेखक द्वारा लगाए गए अमूल्य 26 वर्षों का निचोड़ साबित हो सकता है अगर आप ऐसा करते है जैसा कि लेखक का खुद ही कहना है। इस पुस्तक में 177 मील के पत्थर हैं। यदि आप लेखक के बताये गए मार्ग पर चलने का निर्णय करते हैं और निर्णय करने के पश्चात चलते हैं तो निश्चित रूप से आप भी विश्वस्तरीय, महान और चैम्पियन बन सकते हैं।

यह पुस्तक किनके लिए है?

मेरी सलाह है और मुझे पूरा विश्वास है कि आप अपनी निजी और पेशेवर ज़िन्दगी में शिखर के शिखर तक जाने के लिए इसके 177 मील के पत्थरों का उपयोग करें। जो लोग अपने भविष्य के लिए गंभीर हैं और अपनी औसत ज़िन्दगी से पार जाना चाहते हैं, जिन्हें शिखर की चढ़ाई में मज़ा आता है और जो सफलता के प्रति वाकई गंभीर हैं, उन सारे व्यक्तियों के लिए मैं इस पुस्तक की अनुशंसा करता हूं।

 
Amazon.in Widgets

लेखक के बारे में

Steve Siebold 
स्टीव सिबोल्ड
177 mental toughness secrets of the world class
स्टीव सिबोल्ड

स्टीव सीबोल्ड एक भूतपूर्व पेशेवर खिलाड़ी और नेशनल कोच हैं। आज वे फॉर्च्यून 500 कंपनियों को मेन्टल टफनेस प्रशिक्षण के माध्यम से सेल्स बढ़ाने में मदद कर रहे हैं। एक सम्पन्न पेशेवर वक्ता के रूप में, स्टीव की गिनती पूरी दुनिया के टॉप एक प्रतिशत वक्ताओं में होती है।

Ashok Singh

Ashok Singh

Ashok Singh is an electrical engineer in an MPEB department. He is a keen Hindi reader.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Close

Connect With Us


Subscribe to our newsletter today to receive updates of book reviews, technology and wake-up calls.

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

The Enigmatic Creation will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: